FORGOT YOUR DETAILS?

श्री देववंशीय मालवीया लोहार समाज मुंबई - प्रथम कमिटी

श्री खीवराजजी सुराजमलजी गोराना

श्री खीवराजजी सुराजमलजी गोराना

अध्यक्ष

( सांडिया ) मलाड

श्री मगराजजी कुकारामजी सीलोका गेहलोत

श्री मगराजजी कुकारामजी सीलोका गेहलोत

सचिव

( दुदिया ) सांताक्रूज

श्री मोहनलालजी पितारामजी भी.पवार

श्री मोहनलालजी पितारामजी भी.पवार

कोषध्यक्ष

( प्रतापगढ़ ) अन्धेरी

श्री देववंशीय मालवीया लोहार समाज मुंबई की स्थापना सं १९८९ मैं हुई थी, अध्यक्ष श्री खीवराजजी सुराजमलजी गोराना (गांव - सांडिया) के नेतृत्व में प्रथम कमिटी की निव रखी गई जिसमें सचिव श्री मगराजजी कुकारामजी सीलोका गेहलोत (गांव - दुदिया) को बनाया गया व् कोषअध्यक्ष श्री मोहनलालजी पितारामजी भी.पवार (गांव - प्रतापगढ़) को बनाया गया, इनका चयन सभी समाज बंधुयो ने सर्व सम्मति से किया था.
आपने सगठन को मज़बूत बनाने के लिए अचक प्रयास किये, सेवाभावी समाज बंधुयो से जो योगदान जमा हुआ उसे संभाल कर रखा गया. जब हमारी समाज की जगह ली गई और Reg. कमिटी बनी तब श्री नारायणलालजी चिमनाजी सोलंकी (गांव - मुण्डारा) की अध्यक्षता में बनी कमिटी के पास वह राशि जमा करा दी गई.

कमिटी सदस्य के नाम
१) अध्यक्ष - श्री खीवराजजी सुराजमलजी गोराना, २) सचिव - श्री मगराजजी कुकारामजी सीलोका गेहलोत, ३) कोषअध्यक्ष - श्री मोहनलालजी पितारामजी भी.पवार, ४) उपाध्यक्ष - देवरामजी मालवीय , ५) उपसचिव - शंकरलालजी उदाजी गोरान , ६) उपकोषध्य - गोविन्दजी सोलंकी ( लुणावा ), ७) मोतीलाल जी सोलंकी, ८) सलाहकार - नारायणजी वी. सोलंकी, ९) सदस्य - बाबूलालजी जे. मालवीय, १०) सदस्य - गोविंदलालजी पी. सोलंकी ( बाली ), ११) सदस्य - नारायणलालजी एम. गोरान, १२) सदस्य - नारायणलालजी ऍन. भाटोतरा, १३) सदस्य - ताराचंदजी एस. लोहार, १४) सदस्य - शिवलालजी जे. मालवीय , १५) सदस्य - देवीलालजी हिमताजी, १६) सदस्य - घेवरचंद्रजी नी. भाटोतरा, १७) सदस्य - मांगीलालजी डी. लोहार, १८) सदस्य - रूपरामजी एम. मिस्री, १९) सदस्य - मीठालालजी रूपाजी चौहान , २०) सदस्य - छोगालालजी सी. लोहार, २१) सदस्य - रूपरामजी पी. सोलंकी

श्री देववंशीय मालवीया लोहार समाज मुंबई - द्वितीय कमिटी

श्री नैनारामजी हजारीमलजी कास्त्रा चौहान

श्री नैनारामजी हजारीमलजी कास्त्रा चौहान

अध्यक्ष

( गुडा जेतसिंह ) मिरारोड

श्री जगदिशजी खीमारामजी गोराणा

श्री जगदिशजी खीमारामजी गोराणा

सचिव

( धामली ) मलाड वेस्ट

श्री रूपारामजी मिश्रीलालजी गोराना

श्री रूपारामजी मिश्रीलालजी गोराना

कोषध्यक्ष

( ऊचियार्डा ) मलाड वेस्ट

श्री देववंशीय मालवीया लोहार समाज का संगठन मजबुत करने के लिये श्री नेनारामजी हजारीरामजी कम्बेडीया चौहान ने समाज बंधुओ को प्रेरीत किया, और अपनी समाज को आगे बढाने के लिये अपना विचार प्रकट किया, समाज के उत्साही, सहासी महानुभावों को अपने साथ लेकर एक मजबुत  संगठन  बनाया.

नई कार्यकारिणी का निर्माण  किया और सभी उत्साही कार्य करनेवाले समाज बंधुओ को  कार्यकारिणी के पद से सम्मानित किया, और अपनी समाज में एकता का संदेश दिया. श्री नेनारामजी ने अपनी अध्यक्षता में सभी कार्यकारिणी के मेम्बर से शुरुआत की और मुंबई की सभी समाज बंधुओ के सहयोग लेकर मालवणी मालाड मुंबई में श्री देववंशीय मालवीया लोहार समाज के नाम पर (३००० स्के. फुट) जमीन (प्लॉट) लेकर समाज को हौसला बुलंद किया. समाज की जमीन पर पहली बार श्री कृष्ण जन्माष्ठमी उत्सव धुम धाम से मनाकर सर्व समाज कोेेे एक पंडाल में एकत्रित किया, और  कृष्ण जन्माष्ठमी को वार्षिक रूप में स्थापीत किया. समाज की संस्था का नाम पर धर्मदायुक्त में पंजीकरण कराया. ( रजिस्ट्रेशन क्र. १३८२-२००६ G . B . B .S .D .) श्री नेनारामजी आपकी कार्यकारिणी की मेहनत के माधयम से जो भी कार्य  हाथ में लीया वह सफलता पूर्वक पूर्ण हो गये. इसलिये  आपको और आपकी कार्यकारिणी  सदस्यो को , श्री देववंशीय  मालवीया लोहार समाज मुंबई की तरफ से कोटी कोटी धन्यवाद .

१.उपअध्यक्ष श्री चम्पालालजी भोमारामजी भोंगर - सादड़ी ( कांदिवली ) - पुरे समाज को एक सूत्र में पिरोने में महारत हासिल हैं और वह काम चम्पालालजी ने किया
२.सचिव श्री जगदिशजी खीमारामजी गोराणा - धामली ( मलाड वेस्ट ) - एक खुशाल वक्ता के रूप में आपने समाज को एक नया आयाम दिया
३.उपसचिव श्री बाबूलालजी पेमारामजी सोलंकी - ठाकुरला ( गोरगांव ईस्ट ) - सवभाव से शांत वह संगठन के कार्यो को पूरा करने में विशेष योगदान दिया
४.कोषध्यक्ष श्री रूपारामजी मिश्रीलालजी गोराना - ( ऊचियार्डा ) मलाड वेस्ट - कोषध्यक्ष के रूप में आपने समाज के एक एक पैसे सदस्य से जमा कर उसका विधिवत हिसाब रखा वह समाज के कल्याण के लिए समाज को संगठित करने में आपका विशेष योगदान रहा

इशी कड़ी के अंदर हमेशा समाज के हर करए को पूरा करने में जीनोने कंदे से कंदा मिलकर साथ दिया व समाज के कर्णधार के नाम इतिहास के पन्नो में दर्ज हो गए हैं
वह नाम इस प्रकार हैं
अध्यक्ष - श्री नैनारामजी हजारीमलजी कास्त्रा चौहान ( गुडा जेतसिंह ) मिरारोड
सचिव - श्री जगदिशजी खीमारामजी गोराणा ( धामली ) मलाड वेस्ट
कोषध्यक्ष - श्री रूपारामजी मिश्रीलालजी गोराना ( ऊचियार्डा ) मलाड वेस्ट
उपाध्यक्ष - श्री चम्पालालजी भोमारामजी भोंगर ( सादड़ी ) कांदिवली वेस्ट
उपसचिव - श्री बाबूलालजी पेमारामजी सोलंकी ( ठाकुरला ) गोरगांव ईस्ट
उपकोषध्यक्ष - श्री मांगीलालजी रूपारामजी गोराणा ( हेमावास ) जोगेशवारी ईस्ट
सल्हाकर - श्री छोगालालजी चतरभुजजी सावलाते ( भादलाऊ सोल्हाकर ) गोरगांव ईस्ट
उपसल्हाकर - श्री आईदानजी डुंगारामजी भीनमाल.पंवार ( पाली ) मलाड वेस्ट
सदस्य - श्री सोहनलालजी चम्पालालजी भीनमाल.पंवार ( बोयल ) मलाड ईस्ट
सदस्य - श्री चम्पालालजी पेमारामजी गोराणा ( मोड़ावास ) कांदिवली वेस्ट
सदस्य - श्री प्रकाश रामलालजी भीनमाल.पंवार ( प्रताप गढ़ ) अन्धेरी वेस्ट
सदस्य - श्री आचलचन्दजी देसारामजी गेहलोत ( शिवगंज ) गोरगांव वेस्ट
सदस्य - श्री रमेशजी भबूतजी सोलंकी ( लुणावा ) गोरगांव ईस्ट
सदस्य - श्री प्रभुजी फोजाजी सिंसोदिया ( बैडा ) गोरगांव वेस्ट
सदस्य - श्री भरतजी हिम्मतरामजी सोलंकी ( मुण्डारा ) गोरगांव वेस्ट
सदस्य - श्री हस्तीमलजी पन्नालालजी सोलंकी ( सादड़ी जोबा ) कांदिवली ईस्ट
सदस्य - श्री भवरलालजी कुनारामजी गेहलोत ( कनटालीया )अन्धेरी वेस्ट
सदस्य - श्री प्रभुलालजी दलारामजी भोंगर ( गुडा रामाजी ) कांदिवली ईस्ट
सदस्य - श्री बाबूलालजी पेमारामजी भोंगर ( वणदार ) अन्धेरी वेस्ट
सदस्य - श्री श्रवणजी मुलारामजी गोराना ( हेमावास ) कांदिवली ईस्ट
सदस्य - श्री रमेश कुमारजी ताराचाँदजी सोलंकी ( सुमेरपुर ) कांदिवली ईस्ट

श्री देववंशीय मालवीया लोहार समाज मुंबई - तृतीय कमिटी

श्री नारायणलालजी चिमनाजी सोलंकी

श्री नारायणलालजी चिमनाजी सोलंकी

अध्यक्ष

( मुण्डारा ) थाना

श्री प्रभुलालजी दलारामजी भोंगर

श्री प्रभुलालजी दलारामजी भोंगर

सचिव

( गुडा रामाजी ) कांदिवली

श्री रूपारामजी मिश्रीलालजी गोराना

श्री रूपारामजी मिश्रीलालजी गोराना

कोषध्यक्ष

( ऊचियार्डा ) मलाड वेस्ट

श्री देववंशीय मालवीया लोहार समाज मालाड के,द्वितीय अध्यक्ष श्री नारायणलालजी चिमनाजी सोलंकी पद संभालते ही सर्व प्रथम कार्य में उन्होंने समाज के सामान्य वरिष्ठ समाज बंदु सदसयो को कमेटी के संरक्षक पद से सन्मानित किया और नई कार्यकारिणी का गठान क्या, कार्यकारिणी के मेम्बर को योगता अनुसार पद ग्रहण करवाया और आपकी कमेटी बनाते ही मुंबई के सभी ऐरिया के भामाशाह बंधुओ से सहोगा लेकर ( 5000 स्के. फ़ुट) नई जामिन खरीदी .औरयहकार्य सफाता पुर्वक पुर्ण किया और समाज की जमीन (8000 स्के. फ़ुट) मेें तबदील किया.

श्री रणछोड भगवान की कुपा से समाज मेविकास कार्यो में उन्नती हुई. कार्य जैसेकी
(8000 स्के. फुट) प्लोट के अंदर और ऊपर तीन फुट की उंची बाऊड्रीन् दीवाल निकाली
बाऊड्रीन् दीवाल के ऊपर ५ फुट की जाली लगाई .
लाइट कनेक्शन, मीटर लगाया
२५ फुट का मैं गेट बनाया,
(४० X ९०० स्के. फुट ) छपरा शेड बनाया,
(८००० स्के. फुट) के कोटा स्टोन का फ्लोरिंग लगाया,
(२५ X २० स्के. फुट) में टोयलेट बाथरूम बनाया ,
(२५ X २० स्के. फुट) का कार्यालय ( office ,store room ) बनाया ,
(४० X १० स्के. फुट) का लोखंड जाली गेट ,शेड के निचे
छपरा शेड के नीचे १२ नंग पंखा और ६ नंग टयुब लाइट लगाया

सर्व समाज बन्दुओ के सहयोग से और नई कार्यकारिणी के प्रयास और मेहनत से एक के बाद एक करके सभी कार्य सफलता पुर्वक अध्यक्ष महोदय ने अपनी निगरानी में पूर्ण करवाये .
अध्यक्ष महोदय श्री नारायणज़ी सोलंकी ने सर्व कमेटी मेंबर सहमतीसे मिटिंग में प्रस्ताव लेकर सोचा की श्री कृष्ण जन्माष्ठमी के कार्ये हेतू नये चेहरो को आगे लाकर अवसर देना चाहिये. इस विचार से समाज में जागृक्ता आयेगी. फिर उन्होंने श्री कृष्ण जन्माष्ठमी के कार्ये हेतू नवयुवक मंडल के कार्यकारिणी नियुक्त की गई. जिसमें 2011 की श्री कृष्ण जन्माष्ठमी के कार्य हेतू श्री राजेन्द्रजी मोहनलालजी गेहलोत ( घाणेराव) को कार्येअध्यक्ष , श्री श्रवणजी मुलारामजी गोराणा ( हेमावास ) को कोषाध्यक्ष , कार्य्र को अवसर प्रदान किया , इस प्रकार २०१२ में श्री भरतकुमार सोलंकी ( मुंडारा) को कार्येअध्यक्ष, श्री श्रवणकुमारजी
रतनलालजी सोलंकी ( गुडा ऐन्दला ) को कोषाध्यक्ष, बनाकर कार्य का अवसर प्रदान किया ,सभी कार्यकारिणी सदस्यो के सहयोगा से श्री कृष्ण जन्माष्ठमी वार्षिक उत्सव कार्य सफल बनाया . इस प्रकार अध्यक्ष महोदय श्री नारायणलालजी सोलंकी ने ऐसा अवसर देकर नवयवक मंडल से सदस्यो को मनोबल बढ़ाया , और आगे बढ़कर, समाज के कार्य में बढ चढ़कर हिस्सा लेनेकी प्रेरणा दी और समाज के सहमती से भागवत सप्ताह का आयोजन किया , और इस समरोह को वार्षिक रूप तबदील करने का निर्णाय लिया .
श्री नारायणलालजी की अध्यक्षता में समाज में इस तरह उन्नती करने के लिए आपको और आपकी कार्यकारिणी सदस्यो को श्री देववंशीय मालवीया लोहार समाज मुंबई की तरफ से कोटि कोटि धन्यबाद.

श्री देववंशीय मालवीया लोहार समाज मुंबई - चौथी कमिटी

श्री हस्तीमलजी पन्नालालजी सोलंकी

श्री हस्तीमलजी पन्नालालजी सोलंकी

अध्यक्ष

( सादड़ी जोबा ) कांदिवली

श्री राजंन्द्र कुमारजी डॉ. मोहनलालजी गेहलोत

श्री राजंन्द्र कुमारजी डॉ. मोहनलालजी गेहलोत

सचिव

( घाणेराव ) दहिसर

श्री चम्पालालजी पेमारामजी गोराना

श्री चम्पालालजी पेमारामजी गोराना

कोषध्यक्ष

( मोड़ावास ) कांदिवली

श्री हस्तीमलजी पन्नालालजी सोलंकी की निःस्वार्थ, समाज सेवा करने के लिये ततपर खड़े रहनेवाले , अग्रणीय युवा कार्यकर्ता की मेहनत, काबिलियत, और तन मन धन से समाज सेवा करने की लगन के कारण सर्व मुंबई समाज की सहमती से प्रस्तवा लेकर बरलॅ पेपर द्वारा इलेक्शन ( चुनाव ) करके भारी मतों से विजय श्री का आशीर्वाद मिला .श्री देववंशीय  मालवीया लोहार समाज मुंबई  मलाड के अध्यक्ष पद ग्रहन किया .श्री हस्तीमलजी सोलंकी ने तृतीय अध्यक्ष पद संभालते ही भूत पूर्व कमेटी सदस्यो को सरक्षक पद से सम्मानित किया , और समाज सेवी  कार्यकर्ता ओ  को हर स्टेशन एरिया से एक मेंबर अपने साथ मिलकर एक युवा  कार्यकारिणी कमेटी का निर्माण किया . और सभी को योग्यता  के अनुसार पद ग्रहन करवाया .

प्रथम कार्य
:-बाउंड्री दीवाल को ५ फुट ऊपर करवा के जाली लगाई
:- पिने का पानी के लिये बोरिग करवाया .
:- धर्मादायुक्त में समाज की जमीन ( जगह ) को पिजकृत करवाया .

श्री अध्यक्ष महोदय, हस्तीमलजी  का सभी मुंबई की समाज बंधुओसे निवेदन है की ,समाज में आगे बहोत सरे कार्य करना है, इसलिये आप सभी में समाज ने योगदान दिया है , और जिनका बकाया योगदान राशि है वो जल्द से जल्द कार्यकारिणी के पास जमा करावे . और नये बिकास कार्यो हेतु सहयोग धनराशि प्रदान करे .

नये कार्य करने है
१) श्री कृष्ण भगवानका मंदिर बनाना है .
२) शेड को आगे बढ़ाकर / डबल मंजिल बनाना है .

TOP